प्रियंका श्रीवास्तव

प्रियंका श्रीवास्तव

सोमवार, 13 मई 2013

बेटी का माँ को सन्देश !

 कल रात मुझे ये एस एम एस मिला मेरी बेटी सोनू का , और जब उसको पढ़ा तो आंसू अपने आप गिरने लगे कोई बेटी अपनी माँ से ऐसा कहती है कहा तो बोली आप भी तो कुछ भी लिखती हो रुलाने वाला फिर मुझे भी  में आ रहा  था लिख दिया ! 


खुदा जितना चाहे मुझे  सता ले ,
जिन्दगी जितना चाहे मुझे रुला ले ,
बस एक आखिरी ख्वाहिश है मेरी 
वो तुझसे पहले मुझे बुला ले .

जान निकले तो निगाहें तुझ पर हों ,
और सिर रखा हो तेरी गोद में ,
रखा हो शरीर यहाँ और आत्मा मेरी तुझसे में हो 
ये सोचने भर से मेरी आखें नम है 
माफ  करना माँ पर तुम्हारे बिना 
जीने का मुझमें  नहीं दम है 

करूंगी सब कुछ तुम्हें जो ख़ुशी दे 
बस खुदा  मेरी ये आखिरी तमन्ना पूरी कर दे 
तेरे हर गम में वो तुझे नहीं मुझे रुला दे 
और गर जाना हो तुझे तो वो पहले मुझे बुला ले. 

हैप्पी मदर्स डे मम्मा !

11 टिप्‍पणियां:

  1. करूंगी सब कुछ तुम्हें जो ख़ुशी दे
    बस खुदा मेरी ये आखिरी तमन्ना पूरी कर दे
    तेरे हर गम में वो तुझे नहीं मुझे रुला दे
    और गर जाना हो तुझे तो वो पहले मुझे बुला ले. ..
    इन पंक्तियों को पढ़ने के बाद किसी की भी आँखें मन हो जाएंगी ... माँ बेटी का प्रेम ऐसा हो होता है .. आप भाग्यशाली हैं ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. bahut accha laga .....bitiya ke udgaar .....par hamen apni betiyon ko samjhana hai ki hamare bad ki jimmedari unhe hi nibhana hai atah itna kamjor dil n ho .....

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह बहुत मर्मस्पर्शी ! मन को विगलित कर गया ! बेटी को ढेर सारी शुभकामनायें एवँ आशीर्वाद !

    उत्तर देंहटाएं
  4. बेटियां माँ की परछाई होती हैं , तभी तो इतना दर्द होता है उनके मन में | वो समझती हैं तन के बिना परछाई का क्या औचित्य , रेखा दीदी बिटिया को स्नेह |

    उत्तर देंहटाएं
  5. na baba na ........ aisa din kabhi na aaye ke maa bachcho ko aise dekh paye ...bahut hi marmsparshi likha hain vaise ............. kabhi aise vichaar man mein bhi mat lana beta .....God bless u

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत मर्मस्पर्शी भावपूर्ण रचना.

    उत्तर देंहटाएं
  7. नहीं,नहीं!लंबी उम्र हो सोनू बेटी की दायित्व की बारी अब बेटी की है-माँ की परंपरा आगे बढ़ाने की .

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत मासूम और संवेदनापूर्ण कविता, शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं